Short poem on mother in hindi-poem on mother in hindi

Short poem on mother in hindi-poem on mother in hindi

Short poem on mother in hindi-poem on mother in hindi aaj ham aapke liye yahan par lekar aaye hain jaisa ki aap sab log jante hi hain kii maa yah sabd hamare liye kitna importent hota hai Maa hi hamari life me sabkuch hoti hai me se jyada pyar hame koi nahi kar sakta hai….Hindi Poems On Life Inspiration-Motivational Poems In Hindi About Success
Maa hamare liye hamesa hi paresaan rehti thi aur abhi bhi rehti hai aise me hamara bhi farz banta hai ki ham bhi kabhi aise koi poem on mother in hindi me bole aur use yaad karen kabhi us poem on mother in hindi ko kisis ke saamne kahe aur unhe bataye ki hamari Maa hamse kitna pyar karti hai. Breakfast Cereal Names List Cereals Name In Hindi And English

Agar aap log bhi short poem on mother dhund rahe hain to aap log bilkul sahi website par visit kiye ho kyoki hamari is www.helprocks.com me aapko ye short poem on mother milne waali hai jise aap yaad karke kabhi bhi apne doston ko suna sakte ho ya apni Maa ko bhi in kavitawo ko suna sakte ho to shuru karte hain Short poem on mother in hindi-Poem in hindi on mother and father….

Short poem on mother in hindi

माँ
चूल्हे की
जलती रोटी सी
तेज आँच में जलती माँ !
भीतर -भीतर
बलके फिर भी
बाहर नहीं उबलती माँ !
धागे -धागे
यादें बुनती ,
खुद को
नई रुई सा धुनती ,
दिन भर
तनी ताँत सी बजती
घर -आँगन में चलती माँ !
सिर पर
रखे हुए पूरा घर
अपनी –
भूख -प्यास से ऊपर ,
घर को
नया जन्म देने में
धीरे -धीरे गलती माँ !
फटी -पुरानी
मैली धोती ,
साँस -साँस में
खुशबू बोती ,
धूप -छाँह में
बनी एक सी
चेहरा नहीं बदलती माँ !
Poem- कौशलेन्द्र


वो है मेरी माँ

मेरे सर्वस्व की पहचान
अपने आँचल की दे छाँव
ममता की वो लोरी गाती
मेरे सपनों को सहलाती
गाती रहती, मुस्कराती जो
वो है मेरी माँ।
 
प्यार समेटे सीने में जो
सागर सारा अश्कों में जो
हर आहट पर मुड़ आती जो
वो है मेरी माँ।
 
दुख मेरे को समेट जाती
सुख की खुशबू बिखेर जाती
ममता की रस बरसाती जो

 

वो है मेरी माँ।

ममता की मूरत

क्या सीरत क्या सूरत थी
माँ ममता की मूरत थी
पाँव छुए और काम बने
अम्मा एक महूरत थी
बस्ती भर के दुख सुख में
एक अहम ज़रूरत थी
सच कहते हैं माँ हमको
तेरी बहुत ज़रूरत थी
Poem – मंगल नसीम

ममता की सुधियाँ

जब कभी शाम के साये मंडराते हैं
मैं दिवाकिरण की आहट को रोक लेती हूँ
और सायास एक बार
उस तुलसी को पूजती हूँ
जिसे रोपा था मेरी माँ ने
नैनीताल जाने से पहले
जब हम इसी आँगन में लौटे थे
तब मैं उस माँ की याद में रो भी न सकी थी
वह माँ जिसके सुमधुर गान फिर कभी सुन न सकी थी
वह माँ जो उसी आँगन में बैठ कर मुझे अल्पना उकेरना सिखा न सकी थी
वह माँ जिसके बनाये व्यंजनों में मेरा भाग केवल नमकीन था
वह माँ जिसके वस्त्रों में सहेजा गया ममत्व
मेरी विरासत न बन
एक परंपरा बन गया था
वह माँ जिसके पुनर्वास के लिए
हमने सहेजे थे कंदील और
हम बैठे थे टिमटिमाते दीपों की छाया में
और बैठे ही रहे थे
Poem- सोहिनी

अंधियारी रातों में

अंधियारी रातों में मुझको
थपकी देकर कभी सुलाती
कभी प्यार से मुझे चूमती
कभी डाँटकर पास बुलाती
कभी आँख के आँसू मेरे
आँचल से पोंछा करती वो
सपनों के झूलों में अक्सर
धीरे-धीरे मुझे झुलाती
सब दुनिया से रूठ रपटकर
जब मैं बेमन से सो जाता
हौले से वो चादर खींचे
अपने सीने मुझे लगाती
Poem-अमित कुलश्रेष्ठ

कितनी प्यारी कितनी अच्छी, माँ तू

कितनी प्यारी कितनी अच्छी, माँ तू है कितनी सच्ची।
कितनी प्यारी कितनी अच्छी, माँ तू है कितनी सच्ची।
माँ तेरे उपकारों का कोई मोल नही है,
माँ तेरे प्यार का कोई तोल नही है।
ऐ माँ तेरे पैरो के नीचे जन्नत है,
लेकिन तेरे मुँह पे मेरे लिये ही मन्नत है।
माँ तू हमे हर पल सम्भालती है,
माँ तू हर मुश्किल को टालती है।
माँ तूने हमे उंगली पकड़ कर चलना सिखाया,
जब भी हम गिरे उठाया है तूने,
हर मुश्किल से लड़ना सिखाया है तूने,
माँ का लफ़्ज़ों में कोई बयान नही है,
माँ के जैसा दुनिया मे कोई महान नही है।
कितनी प्यारी कितनी अच्छी,
माँ तू है कितनी सच्ची।
कितनी प्यारी कितनी अच्छी,

माँ तू है कितनी अच्छी।
Tag

Poem in hindi on mother and father, short poem on mother, मदर’स डे पोएम, माँ पोएम इन हिंदी, कविता माँ के लिए, माँ पर मार्मिक कविता, माँ पर कुछ पंक्तियाँ, रुला देने वाली कविता, short poem on mother in hindi, poem on my mother, poem on mother in english, mother’s day poem in hindi, poem on mother in hindi for class, कविता माँ के लिए, poem on mother in marathi, english poem on teacher..Dry Fruits Names In Hindi-सूखी मेवाओं के नाम हिंदी और अंग्रेज़ी में 
Ummid karte hain aapko Short poem on mother in hindi-poem on mother in hindi lekh pasand aaya hoga agar aapko ye lekh pasand aaya hai to apne doston ko share karen aur agar aapko is lekh me koi bhi truti lagti hai to aap hame comment kake jarur batayen dhanyawaad….

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.